E - News Uttarakhand
Ultimate magazine theme for WordPress.

राजीव गांधी पंचायत राज संगठन व युवा कांग्रेस ने स्कूल फीस मांगने के विरोध में दिया सांकेतिक धरना

0 116

डोईवाला- आज राजीव गांधी पंचायत राज संगठन डोईवाला युवा कांग्रेस व एनएसयूआई द्वारा लॉकडाउन के

कारण अभिभावकों को हो रही समस्याओं के संबंध में सांकेतिक धरना दिया।

राजीव गांधी पंचायत राज संगठन के प्रदेश संयोजक

मोहित उनियाल ने कहा कि पूरे देश में कोरोना वायरस महामारी के कारण लॉकडाउन रहा।

सरकार व कई कंपनियों द्वारा वेतन में कटौती की जा रही है व

व्यापार पूरी तरह प्रभावित है। जिससे जनता की आर्थिक स्थिति बहुत नाजुक हो गई है।

अभी भी आर्थिक स्थिति सुचारू रूप से ठीक होने में

कुछ महीने का समय लग सकता है। मगर क्षेत्र के सभी प्राइवेट स्कूलों को

इससे कोई फर्क नही पड़ रहा है।

उनके द्वारा अभिभावकों पर निरंतर फीस देने के लिए दबाव बनाया जा रहा है।

डोईवाला ब्लॉक कांग्रेस कार्यकारी अध्यक्ष रणजीत सिंह

बॉबी ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा नोटिस जारी करके कहा गया था कि प्राइवेट स्कूल,

फीस के लिए अभिभावकों पर दबाव नही डाल सकते हैं

व सिर्फ ट्यूशन फीस मांग सकते हैं, मगर स्कूलों द्वारा ट्यूशन फीस के अलावा लाइब्रेरी फीस, ट्रांसपोर्ट फीस,

बिल्डिंग फीस,स्पोर्ट्स फीस व अन्य तरह के शुल्क मांगे जा

रहे हैं जो सरासर गलत है। ऑनलाइन कोर्स के नाम पर फीस के लिए दबाव बनाया जा रहा है।

डोईवाला युवा कांग्रेस विधानसभा अध्यक्ष राहुल सैनी ने कहा कि शिक्षा के व्यापारीकरण को बिल्कुल बर्दाश्त नही किया जाएगा।

डोईवाला क्षेत्र के कई ऐसे प्राइवेट स्कूल हैं,

जिन्होंने इस मुश्किल वक़्त में 3 महीने की फीस माफ की है। सभी बड़े स्कूलों को

उनसे सीख लेनी चाहिये। हमारी सरकार से मांग है कि इन प्राइवेट स्कूलों पर लगाम लगाई जाए।

धरना देने वालो में कांग्रेस पंचायत संगठन के प्रदेश संयोजक मोहित उनियाल,

डोईवाला ब्लॉक कांग्रेस कार्यकारी अध्यक्ष रणजीत सिंह, युवा कांग्रेस विधानसभा अध्यक्ष राहुल सैनी,

विधानसभा अध्यक्ष एनएसयूआई सावन राठौर, एनएसयूआई नगर अध्यक्ष आरिफ अली, शुभम कंबोज,

नगर पालिका सभासद भरत भूषण, गौरव मल्होत्रा, नगर अध्यक्ष युवा कांग्रेस महेश लोधी, जसपाल सिंह, राजन थापा, मोंटी सैनी,

जसवंत सिंह, आसिफ हसन, अमित सैनी, साहिल, संजय लोधी, हर्षित उनियाल,अनुज कन्नौजिया आदि उपस्थित रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.